Tag: #motivataional thoughts

राम चरित्र मानस प्रसंग
“अपने सगे-सम्बन्धियों के किसी अपराध पर कोई दण्ड न देना ही इस सृष्टि का कठोरतम दण्ड है भरत!”

एक दिन संध्या के समय सरयू के तट पर तीनों भाइयों संग टहलते श्रीराम से महात्मा भरत ने कहा, “एक…

बेटा मुझे चिंता ना तो मेरी है और नाही इन सभी बुजुर्ग लोगो की। मुझे चिंता है तुम्हारी

एक दंपत्ति था,वो एक प्यारे से घर मे अपने एक बेटे लिए साथ रहते थे।उनके बेटे का नाम राकेश था।वे…