20220512_105515

आप सबसे जरूरी काम को सबसे पहले कीजिए।

आप अपने साथ हमेशा एक टु-डू लिस्ट रखिए जिसमें आप अपने दिन भर के काम को लिखिए। इससे आप अपने रोज के कामों पर एक नजर रख पाएंगे। लेकिन अपना कौन सा काम पहले और कौन सा काम बाद में करना चाहिए? आइए देखते हैं।

आप अपने काम को उनसे मिलने वाले नतीजों के आधार पर कीजिए। जैसे अगर कोई काम बड़ा है लेकिन उससे मिलने वाले नतीजे छोटे हैं तो आप उस काम को अंत में कीजिए। अगर कोई काम छोटा है और उससे मिलने वाले नतीजे बड़े हैं तो आप उसे सबसे पहले कीजिए। आप हमेशा नतीजों पर ध्यान दीजिए और उसी के हिसाब से अपने काम को कीजिए।

विल्फ्रीडो पैरेटो (Vilfredo Pareto) ने 19वीं शताब्दी में 80/20 का नीयम दिया जिसमें उन्होंने बताया कि इस दुनिया की 80% संपत्ति सिर्फ 20% लोगों के पास है। यह छोटा सा नीयम बहुत जगहों पर लागू होता है। आपकी 20% मेहनत ही आपको 80% की सफलता दिलाएगी और आप अपनी 20% कमियों को दूर कर के अपने आप को 80% सुधार सकते हैं।

जोसेफ एम जुरान (Joseph M. Juran) जब जनरल मोटर्स के लिए काम कर रहे थे तो उन्होंने देखा कि उनकी गाड़ियों में आगे वाली खराबियाँ कुछ छोटे छोटे मैनुफैक्चरिंग डिफेक्टस की वजह से आती थी।

जूरान ने देखा कि उनकी गाड़ियों में आने वाली 80% खराबियाँ सिर्फ 20% मैनुफैक्चरिंग डिफेक्टस की वजह से आती थीं। उन्होंने अपनी इस खोज को पैरेटो प्रिंसिपल कहा। इस कमियों को दूर करना ही जूरान का सबसे जरूरी काम हो गया।

इन बातों से एक बात तो साफ है कि आपके सारे काम जरूरी नहीं हैं। उनमें से कुछ काम के नतीजे बहुत बड़े होंगे जो आपको आगे लेकर जाएंगे। आप इन कामों को सबसे पहले कीजिए।

By REEMA SRIVASTAVA

I AM MUKESH KUMAR SRIVASTAVA

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *