Gyanbajar Exam tips for students परीक्षा के दिनों में 3 प्रमुख गलतियां और उनसे कैसे बचें

परीक्षा के दिनों में 3 प्रमुख गलतियां और उनसे कैसे बचें

  • एक छोटी सी गलती के कारण प्रतियोगिता व परीक्षा में असफलता मिल सकती है। इस पोस्ट में, मैं आपको ऐसी प्रमुख गलतियों से बचने के लिए

    सचेत करूँगा।

  • 1.परीक्षा की पूर्व रात्रि में बहुत कम न सोएँ

    2.प्रश्नों को धीमी गति से पढ़ें, आराम करें, परीक्षा देते समय जल्दी नहीं करें

    3.अपने स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखें

  • 1.परीक्षा की पूर्व रात्रि में बहुत कम न सोएँ

  • आपको परीक्षा की पूर्व रात्रि में पर्याप्त सोना चाहिए। अगर आपकी परीक्षा सिर्फ एक दिन के लिए है, तब उसकी पूर्व रात्रि को पर्याप्त निद्रा लें। अगर आपकी परीक्षा कई दिनों तक चलने वाली हैं, तब उन सभी रातों में भी आपको पर्याप्त नींद लेनी चाहिए l

  • यह बात मैं मेरी स्वंय की गलती से सीखा हूँ | कक्षा दस में मेरी अंतिम परीक्षा “सामाजिक ज्ञान” की थी। मेरे सभी परीक्षा–पत्र मेरी आशा के अनुरूप बहुत अच्छे हुए थे। चूँकि सामाजिक ज्ञान की परीक्षा मेरी अंतिम परीक्षा थी, अतः: मैंने सोचा कि आज रात खूब पढ़ लेना चाहिए। मैंने सोचा कि मैं परीक्षा के बाद कई दिनों तक आराम से सो सकता हूँ। अतः मैं रात्रि के 2 बजे तक पढ़ता रहा। इसके बाद मैं प्रात: 4 बजे का अलार्म लगा कर सो गया। इस प्रकार मैं खूब पढ़ा । रात को सिर्फ दो घण्टे ही सोया। प्रातः दस बजे मैं परीक्षा देने चला गया। मेरी परीक्षा अच्छी रही, और मैं प्रसन्न था।

  • कुछ महिनों बाद परिणाम आए। मैंने औसत 84% अंक प्राप्त किए । भौतिकी, रसायन शास्त्र और गणित में मेरा औसत 88% था। किन्तु सामाजिक ज्ञान में मुझे सिर्फ 48% अंक ही प्राप्त हुए। अगर मुझे सामाजिक ज्ञान में अधिक अच्छे अंक मिले होते तो मेरा नाम मेरिट लिस्ट में होता। इससे मुझे अच्छा सबक मिला, और मैंने तय कर लिया कि परीक्षा पूर्व रात्रि में “बहुत अधिक ” देर तक नहीं पढ़ना चाहिए ।

  • 2.प्रश्नों को धीमी गति से पढ़ें, आराम करें, परीक्षा देते समय जल्दी नहीं करें

  • मुझे यह सबक भी कक्षा दस में की गई एक गलती से मिला। वह अंग्रेजी की परीक्षा थी। मेरे लिए राज्य स्तर पर बोर्ड की वह पहली परीक्षा थी। मैंने

    अभी तब विश्राम करना नहीं सीखा था। मैं सभी कार्य जल्दी में किया करता था। परीक्षा में भी मुझे जल्दी रहती थी। मैंने सब प्रश्नों का उत्तर परीक्षा समय खत्म होने के दस मिनट पूर्व ही लिख लिए थे। मैं अपनी गलतियों को ठीक करने के लिए एक बार फिर से सभी प्रश्नों को देख रहा था। मुझे यह देखकर उस समय गहरा धक्का लगा, जब मैंने देखा कि मैंने “दिवाली” की जगह “दिल्ली” पर निबन्ध लिख डाला है। यह निबन्ध “दिवाली” पर लिखा जाना था। परन्तु मैंने इसे जल्दी में “दिल्ली” पढ़ लिया। जब मुझे मेरी इस गलती का पता लगा, उस संमय सिर्फ 1-2 मिनट का समय शेष बचा था। मैं सिर्फ कुछ स्थानों पर “दिल्ली” काट कर “दीवाली” लिख पाया। मुझे यह पता नहीं कि मेरी इस गलती के कारण मैंने कितने अंक गंवाए।

  • उस गलती को कारण मैंने प्रश्नों को धीरे और आराम से पढ़ना सीखा।

  • यह भी सीखा कि सोचकर और योजना बनाकर उत्तर लिखना चाहिए। इससे मुझे बाद की परीक्षाओं में अधिक सफलता प्राप्त करने में बहुत सहायता मिली।

  • 3.अपने स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखें

  • अगर आप बीमार हो जाते हैं, तब परीक्षा में आप उतना अच्छा कार्य नहीं कर पाऐंगे जितने आप सक्षम हैं। आपको अपनी मेहनता और ज्ञान का पूरा परिणाम नहीं मिल पाएगा।

  • अत: आपको अपने स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखना चाहिए | उदाहरण के लिए-होटल या सड़क के किनारे, गलियों में, कोई वस्तु न खाएं। इनमें जीवाणु हो सकते हैं, और आपको बीमार कर सकते हैं। अधिक भारी बोझ भी मत उठाएं। ऐसा कोई भी कार्य नहीं करें जिससे आपके शरीर में दर्द उत्पन्न

    हो जाए या आप बीमार हो जाएं।

  • अधिक व्यायाम मत करें

  • अच्छे स्वास्थ्य के लिए व्यायाम करने का रहस्य है कि व्यायाम नियमित रूप से करें। व्यायाम ऐसा होना चाहिए कि शरीर को पीड़ां का अनुभव नहीं । |

  • यदि आप एक ही दिन में अधिक व्वायाम करेंगे तब आप थक जाएंगे, और आपको चोट भी लग सकती है। कई बार यह चोट इतनी गंभीर हो सकती है कि इसे ठीक होने में कुछ वर्ष लग जाएं।

  • ऐसे महत्वपूर्ण पोस्ट पढ़ने के लिए विजिट करें ।

    www.GyanBajar.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Post