Life Changing Thoughts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Post

मेरे विट्ठल सरकार का सच्चा दरबारमेरे विट्ठल सरकार का सच्चा दरबार

मेरे विट्ठल सरकार का सच्चा दरबार कन्धे पर कपड़े का थान लादे और हाट-बाजार जाने की तैयारी करते हुए नामदेव जी से पत्नी ने,, कहा- भगत जी! आज घर में

भगवान विष्णु जी और नारद मुनि जी पौराणिक कथाभगवान विष्णु जी और नारद मुनि जी पौराणिक कथा

एक बार नारद मुनि जी ने भगवान विष्णु जी से पुछा, हे भगवन आप का इस समय सब से प्रिया भगत कोन है?, अब विष्णु तो भगवान है, सो झट

तीनों ने मिलकर तय किया कि इस बार दादी को भी लेकर चलेंगे।तीनों ने मिलकर तय किया कि इस बार दादी को भी लेकर चलेंगे।

*छोटे ने कहा,” भैया, दादी कई बार कह चुकी हैं कभी मुझे भी अपने साथ होटल ले जाया करो.” गौरव बोला, ” ले तो जायें पर चार लोगों के खाने